कोयला तस्करी मामले में Abhishek की साली मेनका से पूछताछ

0
1

केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) की एक टीम ने अवैध कोयला तस्करी मामले में अपनी जांच के सिलसिले में तृणमूल कांग्रेस के सांसद अभिषेक बनर्जी की साली मेनका गंभीर का बयान दर्ज किया है। सीबीआई अधिकारियों के अनुसार, जांच अधिकारी उमेश कुमार की अगुवाई में सीबीआई की आठ सदस्यीय टीम दो महिला अधिकारियों के साथ गंभीर के आवास पर पहुंची और ढाई घंटे तक उनका बयान दर्ज किया।

सीबीआई सूत्रों ने कहा कि एजेंसी ने उनसे कुछ बैंकिंग लेनदेन के बारे में पूछताछ की।

मामले में अपना बयान दर्ज करने के लिए सीबीआई ने रविवार को गंभीर को तलब किया था। यह मामला पिछले साल नवंबर में दर्ज हुआ था।

इस बीच, अभिषेक की पत्नी रुजिरा बनर्जी, जिन्हें रविवार दोपहर उनके आवास पर समन भेजा गया था, ने भी सीबीआई को जवाब दिया और मंगलवार को अपना आवास पर सुबह 11 बजे से 3 बजे के बीच पूछताछ करने के लिए सहमत हुई।

अभिषेक पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री और तृणमूल कांग्रेस सुप्रीमो ममता बनर्जी के भतीजे हैं।

सीबीआई की कार्रवाई इस साल होने वाले विधानसभा चुनावों से पहले हुई है, जहां सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस और भाजपा कड़ी प्रतिस्पर्धा में हैं।

सीबीआई की कार्रवाई के बाद अभिषेक ने रविवार को कहा कि उन्हें कानून पर पूरा भरोसा है। एक ट्वीट कर अभिषेक ने कहा कि आज दोपहर 2 बजे सीबीआई ने मेरी पत्नी को नोटिस भेजा है। हमें कानून पर पूरा भरोसा है, लेकिन यदि उन्हें लगता है कि वे हमें डराने के लिए ये सब कर रहे हैं तो यह उनकी गलती है। हम उनमें से नहीं हैं जो झुक जाएंगे।

तृणमूल कांग्रेस के प्रवक्ता कुणाल घोष ने कहा कि इसमें कोई नई बात नहीं है क्योंकि भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) पश्चिम बंगाल में तृणमूल कांग्रेस की अगुवाई वाली सरकार को हराने की कोशिश कर रही थी।

उन्होंने कहा कि वे राज्य विधानसभा चुनाव से पहले अभिषेक बनर्जी की छवि खराब करने के लिए केंद्रीय एजेंसियों का उपयोग कर रहे हैं। सीबीआई का नोटिस उस ओर एक कदम है।

कोयला तस्करी के रैकेट के सिलसिले में पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड और उत्तर प्रदेश के 45 स्थानों पर पिछले साल 28 नवंबर को सीबीआई ने छापे मारे थे।

न्यूज सत्रोत आईएएनएस

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here