बड़ी से बड़ी बीमारी की मेडिसिन है अश्‍वगंधा

0
0

अश्‍वगंधा (Benefits Of Ashwagandha In Hindi) का नाम आपने कई बार सुना होगा, लेकिन इसके फ़ायदों के बारे में शायद नहीं जानते होंगे आप। आयुर्वेद में अश्‍वगंधा को विशेष जगह प्राप्त है। यह केवल एक पौधा ही नहीं, बल्कि कई बीमारियों को जड़ से ख़त्म करने की औषधि भी है। इसकी जड़ों व पत्तियों से दवा बनाई जाती है।

मेडिसिन है अश्‍वगंधा (Benefits Of Ashwagandha In Hindi)

– अश्‍वगंधा एक चमत्कारी हर्ब है। इसे आयुर्वेद में अहम् जगह प्राप्त है।
– तनाव, चिंता, थकावट, नींद की कमी जैसी समस्यों का अच्छा उपचार अश्‍वगंधा से किया जा सकता है। यह स्ट्रेस हार्मोन कॉर्टिसोल के लेवल को कम करता है, जिससे स्ट्रेस कम होता है।
– गंभीर डिप्रेशन से पीड़ित का उपचार भी अश्‍वगंधा से संभव है।
– एंटीइंफ्लामेट्री गुणों की वजह से ये कोलेस्ट्रॉल व टेलीकॉम रेगुलेटरी अथॉरिटी ऑफ़ इंडिया ग्लिसराइड लेवल को कम करता है व दिल को स्वस्थ रखता है।
– कैंसर के मरीज़ों के लिए फायदेमंद है। एक रिसर्च के मुताबिक़ अश्‍वगंधा कीमोथेरेपी के बुरे असर को कम करने में मदद करता है। इसके अतिरिक्त नयी कैंसर सेल्स को बनने से भी रोकता है।
– सूजन व दर्द को कम करने लिए भी इसका इस्तेमाल किया जाता है।
– इसकी जड़ों को पीसकर घाव पर लगाने से घाव जल्दी भरता है।
– ये इम्यून सिस्टम को मज़बूत करता है।
– स्कीन के रोगों को दूर करने में मदद करता है। ये न स़िर्फ झुर्रियों को कम करता है, बल्कि चर्म रोग को भी अच्छा करता है।
– अनिद्रा की शिकायत को दूर करता है।
– डायबिटीज़ को कंट्रोल करत है। ब्लड शुगर को कम करता है व इंसुलिन सेंसिटिविटी को मसल्स सेल्स में इंप्रूव करता है।
– पुरुषों में मसल्स मास को बढ़ाकर, बॉडी फैट्स कम करता है व स्ट्रेंथ देता है।
– यह सूजन व जलन से राहत दिलाता है।
– ज्वाइंट पेन व कमरदर्द के लिए फ़ायदेमंद होता है।
– अल्ज़ाइमर का उपचार करने के लिए भी इसका प्रयोग किया जाता है।
– एंटीबैक्टेरियल गुणों के कारण अश्‍वगंधा कई बैक्टीरियल इंफेक्शन से भी बचाता है।

सेक्स जीवन को बनाए बेहतर (Benefits Of Ashwagandha In Hindi)
– अश्‍वगंधा मेल हार्मोन लेवल व रिप्रोडक्टिव हेल्थ को इंप्रूव करता है।
– ये पुरुषों की फर्टिलिटी बढ़ाने में मदद करता है। इसके सेवन से स्पर्म काउंट बढ़ता है।
– टेस्टोस्टेरॉन हार्मोन को बढ़ाने में मदद करता है।
– यह संभोग के दौरान होने वाली थकान को कम करता है व एनर्जी देता है।
– अश्‍वगंधा से कई शक्तिवर्धक दवाएं बनाई जाती हैं, जो संभोग से जुड़ी समस्याओं से छुटकारा दिलाती हैं।

ये न करें सेवन
– प्रेग्नेंट महिलाएं या वो महिलाएं जो स्तनपान कराती हैं, वो अश्‍वगंधा का सेवन न करें।
– ऑटोइम्यून डिसीज़ से पीड़ित लोगों को भी इसका सेवन नहीं करना चाहिए।
– जो लोग थायरॉइड की दवाइयां खा रहे हैं, उन्हें भी अश्‍वगंधा नहीं खाना चाहिए, क्योंकि इससे थायरॉइड हार्मोन लेवल बढ़ सकता है। साथ ही इसके सेवन से ब्लड शुगर व ब्लड प्रेशर बढ़ सकता है। इसके सेवन से पहले चिकित्सक से सम्पर्क करें, क्योंकि दवाओं का डोज़ बदलना पड़ेगा।
– अश्‍वगंधा की टैबलेट या पाउडर बिना डॉक्टरी सलाह के न लें।
– चिकित्सक के बताए अनुसार ही डोज़ लें। इसके ज़्यादा सेवन से डायरिया, उल्टी या पेट ख़राब होने कि सम्भावना है।

अश्‍वगंधा के ब्यूटी बेनिफिट्स
– उसमें उपस्थित एंटीऑक्सीडेंट्स एजिंग प्रोसेस को स्लो करता है। स्कीन को फ्री रैडिकल्स से बचाता है।
– अश्‍वगंधा को टोनर के रूप में भी
इस्तेमाल किया जा सकता है।
– स्काल्प सर्कुलेशन को इंप्रूव करता है व बालों को मज़बूत बनाता है।
– डैंड्रफ से छुटकारा दिलाता है।
– बालों के रंग के लिए ज़िम्मेदार मेलिनन के प्रोडक्शन को बढ़ाता है व स़फेद बालों को फिर से काला कर देता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here