इंडिया में ही हैं खूबसूरत झरने तो विदेश की सैर क्या करना

0
3

झरना’ ये शब्द आते ही लोगों को एक प्राकृतिक खूबसूरती का एहसास होने लगता है। अक्सर टूर पर जाने वाले लोग अपने ट्रिप में झरनों को अहम जगह देते हैं। उनको झरने के पास पहुंचकर प्रकृति के पास आने का अनोखा आनंद मिलता है। अगर आप भी ऐसे ही प्रकृति प्रेमियों में से हैं तो आज हम आपको भारत के कुछ खूबसूरत झरनों को बारे में बताएंगे।

दूधसागर वॉटरफाल
गोवा का सुंदर झरना जिसे दूधसागर के नाम से जाना जाता है दो राज्यों की सीमा पर स्थित है। ये झरना गोवा-कर्नाटक बॉर्डर के माण्डवी नदी पर है। गोवा की राजधानी पणजी से ये झरना लगभग 60 किलोमीटर दूर है। अगर आप यहां मानसून के दौरान जाएंगे तो आप अनोखा आनंद ले पाएंगे।

चित्रकूट वॉटरफाल
चित्रकूट वाटरफॉल देश में सबसे बड़े वाटरफॉल्स में से एक है। ये मनमोहक झरना 29 मीटर की ऊंचाई पर स्थित है। वहीं इसकी चौड़ाई अलग-अलग मौसम में बदलती रहती है।

अथिराप्पिल्ली वॉटरफाल
यूं तो केरल मॉनसून, समुद्री किनारा, प्रकृति के लिए मशहूर है। साथ ही यहां कई झरने भी हैं। इनमें से एक थिराप्पिल्ली वॉटरफाल है जिसमें लगभग 80 फीट की ऊचांई से पानी गिरता है।

खंडधार वॉटरफाल
ये वॉटरफाल उड़ीसा का सबसे बड़ा वॉटरफाल है। ये झरना हरे भरे जंगलो के बीच है। ये सुंदर झरना घोड़े की पूंछ के समान लगता है। इसकी ऊंचाई की बात करें तो ये लगभग 800 फीट की ऊंचाई पर है। आपको बता दें ये झरना भारत के झरनों में 12वें स्थान पर है।

नोहकालीकाई वॉटरफाल
भारत के ऊंचे झरनों में ये नोहाकालीकाई वॉटरफाल शामिल है। ये झरना चेरापूंजी के पास स्थित है। ये बताया जाता है कि एक लिकाई नाम की लड़की झरने के पास की खड़ी चट्टानों से छलांग लगाया करती थी। उसी के नाम पर इस झरने का नाम नोहकालीकाई पड़ गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here