China-EU संबंध अधिक ऊंचे स्तर पर बढ़ रहे हैं

0
1

चीन-ईयू शिखर बैठक 14 सितंबर को वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये आयोजित हुई। चीनी राष्ट्रपति शी चिनफिंग ने इस बैठक में प्रस्ताव रखा कि चीन और यूरोपीय संघ को शांतिपूर्ण सहअस्तित्व, खुलेपन व सहयोग, बहुपक्षवाद और वातार्लाप पर कायम रहना चाहिए। शी के चार सूत्रीय सुझावों ने चीन-ईयू समग्र रणनीतिक साझेदारी को अधिक ऊंचे स्तर पर ले जाने के लिए मार्ग दिखाया। दोनों पक्षों के बीच संपन्न सिलसिलेवार समानताओं ने चीन और ईयू द्वारा बहुपक्षवाद और मुक्त व्यापार का समर्थन करने का संकेत दिया और विश्व आर्थिक विकास में नयी प्रेरणा डाली है। वर्तमान में कुछ पश्चिमी राजनीतिज्ञ घरेलू समस्या को ढंकने के लिए अंतरराष्ट्रीय मामलों में मुकाबला छेड़ने की कोशिश कर रहे हैं। यह विश्व शांति के लिए गंभीर धमकी है। इस पृष्ठभूमि में चीन और ईयू को साफ देखना चाहिए कि दोनों पक्षों के बीच मूल हितों की टक्कर नहीं है। सहयोग प्रतिस्पर्धा से काफी अधिक है और समानताएं मतभेदों से काफी अधिक हैं। सिर्फ सहयोग से शांति व विकास को सुनिश्चित किया जा सकेगा। यह चीन और यूरोपीय संघ के समान हित में है।

कोविड-19 महामारी के प्रभाव से विश्व अर्थव्यवस्था और व्यापार में बड़ी गिरावट आयी है। दो बड़ी अर्थव्यवस्थाओं के नाते चीन और ईयू खुलेपन और सहयोग पर कायम रहकर विश्व आर्थिक बहाली में दोहरे इंजन की भूमिका निभा सकेंगे। महामारी के बाद चीन और जर्मनी, फ्रांस आदि देशों ने हरित रास्ता खोला और वैश्विक व्यावसायिक चेन की स्थिरता को सुरक्षित किया। उल्लेखनीय बात है कि दूसरी तिमाही में चीन पहली बार अमेरिका को पीछे छोड़कर जर्मनी का पहला निर्यात गंतव्य बना।

वर्तमान में चीन नये विकास की स्थिति तैयार कर रहा है, जिसमें घरेलू आर्थिक चक्र प्रधान होगा और घरेलू व अंतरराष्ट्रीय चक्र एक दूसरे को बढ़ावा देंगे। यह ईयू के लिए नये दौर का सहयोग और विकास स्पेस प्रदान करेगा ।

न्यूज स्त्रोत आईएएनएस

Ads by Revcontent

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here