रोज आना करे गुड़ व चने का सेवन आपके स्वास्थ को मिलेंगे यह बड़े फायदे

0
0

घर में जब कोई बीमारी से अच्छा होता है तो बड़े बुजुर्ग अक्सर उन्हें गुड़ चना खाने की सलाह देते हैं, क्योंकि बीमारी से अच्छा होने के बाद किसी भी आदमी को कमजोरी महसूस होती है.

 बुजुर्गों द्वारा गुड़ चना खाने को इसलिए बोला जाता है, क्योंकि इसे खाने से शरीर में स्फूर्ति आती है. गुड़ में भरपूर मात्रा में आयरन, कैल्शियम, प्रोटीन, फास्फोरस, कार्बोहाइड्रेट के अतिरिक्त अन्य कई पौषक तत्व शामिल होते हैं. गुड़ को खाने से शरीर में आयरन की कमी दूर होती है. व साथ ही चने में भी बहुत ज्यादा मात्रा मे कार्बोहाइड्रेट, आयरन, विटामिन-बी के साथ ही कई तत्व उपस्थित होते हैं.

से जुड़े डाक्टर लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, आयुर्वेद कहता है कि रोज गुड़ खाने से आंखों की लाइट बढ़ती है. यह मुंहांसों का भी उपचार करता है.

शरीर के लिए औषधि से कम नहीं गुड़-चना
यह बात तो हर कोई जानता है कि भूना हुआ चना खाना स्वास्थ्य के लिए लाभकारी होता है, लेकिन भूने हुए चने के साथ यदि थोड़ा सा गुड़ भी खाया जाए तो यह शरीर के लिए एक औषधि जैसे कार्य करता है व शरीर में कई पोषक तत्वों की पूर्ति करता है. गुड़ और चने को रोजाना थोड़ी मात्रा में सेवन किया जाए तो कई गंभीर बीमारियों से बचा जा सकता है.

दूर होती है शारीरिक कमजोरी
गुड़-चना यदि साथ में खाया जाता है तो एनीमिया रोग से बचा जा सकता है. स्त्रियों में अक्सर हीमोग्लोबिन की कमी पाई जाती है. मासिक माहवारी के चलते स्त्रियों में तो यह एक आम समस्या है. ऐसे में उन्हें शरीर में हीमोग्लोबिन की पूर्ति के लिए रोज गुड़-चना का सेवन तो जरूर करना चाहिए.

आयरन व प्रोटीन का लाजवाब गठबंधन है गुड़-चना
गुड़ में उच्च मात्रा में आयरन व भूने हुए चने में आयरन के साथ प्रोटीन भी प्रचुर मात्रा में पाया जाता है. ऐसे में शरीर में नयी कोशिकाओं के निर्माण में प्रोटीन मदद करता है व गुड़ शरीर को ऊर्जा प्रदान करता है, जिससे शरीर में ऊर्जा निरंतर बनी रहती है. शरीर निर्बल नहीं पड़ता व नित्य दिनचर्या में स्फूर्ति बनी रहती है.

हड्डियों को भी मजबूत करता है गुड़-चना
हड्डियों को मजबूत बनाने के लिए भी प्रतिदिन एक मुट्ठी चना व गुड़ का सेवन करना चाहिए. 40 वर्ष की आयु के बाद शरीर में हड्डियां निर्बल होने लगती है व इनका क्षरण होना प्रारम्भ हो जाता है. यही कारण है कि शरीर में जोड़ों से संबंधित दर्द भी प्रारम्भ हो जाते हैं. इनसे बचने के लिए भी रोज गुड़-चना जरूर खाना चाहिए.

दिल को सेहतमंत रखता है गुड़-चना
गुड़-चना दिल को लंबे समय तक स्वास्थ्य वर्धक रखता है. गुड़ चना में भरपूर मात्रा में पोटेशियम पाया जाता है, जो हार्ट अटैक के खतरे को रोकता है. इसके अतिरिक्त गुड़-चना शरीर में बढ़ते वजन को भी नियंत्रित करके रखता है. इसके सेवन से शरीर में मेटाबॉलिज्म बढ़ता है साथ ही शरीर का इम्यून सिस्टम भी मजबूत होता है.

कब्ज के मरीज जरूर खाएं गुड़-चना
बेकार पाचन के चलते अधिकतर लोगों को कब्ज, एसिडिटी व गैस जैसी पेट से जुड़ी परेशानियां होती हैं. पेट से जुड़ी तमाम परेशानियों में यदि रोज गुड़-चना खाना जाए तो इन तमाम समस्याओं से छुटकारा  पाया जा सकता है. इससे पाचन क्रिया बेहतर होती है.
से जुड़े डाक्टर लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार,  भुना हुआ चना न केवल पाचन बल्कि हार्ट के लिए भी अच्छा है. इसे गुड़ के साथ खाया जाए तो कई शरीर को अंदरूनी मजबूती देता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here