अर्थव्यवस्था /छह माह में ही सालाना बजट अनुमान के 93 फीसदी पर पहुंचा वित्तीय घाटा

0
0

दिल्ली सरकार ने पूरे कारोबारी साल के लिए जितना वित्तीय घाटा होने का अनुमान रखा था कमा उसके करीब 93 फीसद सीमा पहले 6 महीने में ही हासिल हो चुकी है। दूसरी 6 मई के आंकड़े आने अभी बाकी है। अब तक आए कंट्रोलर ऑफ जनरल अकाउंट से द्वारा जारी करेंगे सरकारी आंकड़ों के मुताबिक अप्रैल से लेकर 30 सितंबर जिसे पहली छमाही तक की अवधि कहा जाता है उसमें देश का वित्तीय घाटा ₹651555 करोड़ पर पहुंच चुका है।

सरकार अपनी ऐसे जितना अधिक खर्च करती है कमा उसे देश का वित्तीय घाटा कहते हैं। पूरे कारोबारी साल की सरकार ने करीब 7.0 ₹300000 का घाटा होने का लक्ष्य रखा था। पिछले कारोबारी साल की समान अवधि में पूरे साल के बजट का अनुमान 95.3 फीसद वित्तीय घाटा हो चुका है पुलिस स्टाफ इस लिहाज से इस साल की अवधि की स्थिति पिछले कारोबारी साल के मुकाबले थोड़ी बेहतर है।

गौरतलब है कि सरकार ने सितंबर के महीने में कॉर्पोरेट टैक्स में कटौती की घोषणा की थी कॉमर्स सरकारी राजस्व को 1.45 लाख करोड रुपए का झटका लगा है। सरकार का हालांकि मानना है कि कॉर्पोरेट टैक्स कटौती से अर्थव्यवस्था में तेजी आएगी।

सीजी के आंकड़ों के मुताबिक पहली 6 मई में सरकार की राजस्व प्राप्ति पूरे कारोबारी साल के लिए तय की गई है और बजट की हनुमान करीब 41.60 शब्द पहुंच चुकी है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here