शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने के लिए फॉलो करे यह टिप्स

0
0

दिन ब दिन डायबिटीज के मरीजों की संख्या बढ़ती जा रही है. इस कारण यह रोग महामारी की तरह फैल रहा है. डियबिटीज सबसे बड़ी स्वास्थ्य समस्या के रूप में उभर कर सामने आ रहा है. इसके लिए सबसे ज्यादा जो कारक जिम्मेदार होता है,

वह है अनुवांशिक कारण. इसके अलावा, आज की बेतरतीब जीवनशैली, गलत खानपान, एक्टिव ना रहना भी इस रोग को बढ़ा रहा है. आप चाहें, तो अपनी दिनचर्या की आदतों में सुधार करके व नीचे बताए गए फूड्स का सेवन करके इस रोग को बहुत हद तक कंट्रोल में रख सकते हैं.कई ऐसे घरेलू तरीका जिनसे आप डायबिटीज को कंट्रोल करके एक सामान्य ज़िंदगी जी सकते हैं.

दालचीनी पाउडर (Cinnamon Powder):दालचीनी के सेवन से इंसुलिन की संवेदनशीलता बढ़ती है. ये रक्त में शुगर लेवल को कम करने व नियंत्रित करने में मददगार है. इसके नियमित सेवन से फैट की चर्बी भी कम होता है. दालचीनी को आप महीन पीस लें. इस पाउडर को गुनगुने पानी के साथ लें. बहुत अधिक मात्रा में ये पाउडर लेना हानिकारक भी होने कि सम्भावना है.

नीम (Neem Leaves):गिलोय व नीम भी डायबिटीज को कंट्रोल में रखती है. नीम के डंठल से दातुन यानी ब्रश करें व इस दौरान मुंह में आने वाले पानी को बाहर फेकने की बजाय अंदर ले लें. यह शुगर लेवल को कंट्रोल में रखने का सरल उपाय है.

सहजन की पत्त‍ियां:सहजन खाना जिस तरह से हेल्दी होता है, उसकी पत्त‍ियों का रस भी डायबिटीज के मरीजों के लिए लाभकारी होता है. इसकी पत्त‍ियों को पीसकर उसे निचोड़ लें. प्रातः काल नियमित रूप से खाली पेट इसका सेवन करने शुगर लेवल बढ़ता नहीं है.

तुलसी की पत्त‍ियां (Tulsi Leaves) :तुलसी की पत्त‍ियों में एंटीऑक्सीडेंट तत्व पाए जाते हैं, जो पैंक्रियाटिक बीटा सेल्स को इंसुलिन के प्रति सक्रिय बनाती हैं. ये सेल्स इंसुलिन के स्राव को बढ़ाती हैं. खाली पेट दो से तीन तुलसी की पत्ती हर प्रातः काल चबाने से ब्लड शुगर लेवल कम होता है. आप इसके रस का भी सेवन कर सकते हैं.

जामुन के बीज (Jamun Seeds):जामुन से भी डायबिटीज को कंट्रोल रखा जा सकता है, खासकर इसके बीज के सेवन से. इसके बीजों को सुखा लें. जब ये सूख जाएं, तो इन्हें पीसकर पाउडर बना लें. इसे प्रातः काल खाली पेट गुनगुने पानी के साथ लेने से डायबिटीज को बहुत हद तक कंट्रोल किया जा सकता है.

दही (Curd):दही का सेवन करने से हेल्दी ब्लड शुगर लेवल को बढ़ा सकते हैं.साथ ही दही खाने से दिल की स्वास्थ्य भी दुरुस्त रहती है. वजन को कंट्रोल में रख सकते हैं. दही के अतिरिक्त अन्य डेयरी खाद्य पदार्थों का सेवन भीटाइप 2 डायबिटीज वाले लोगोंके लिए हेल्दी डायबिटीज डाइट है.

ग्रीन टी (Green Tea):जो लोग ग्रीन टी का सेवन करते हैं, उनमें डायबिटीज होने की आसार बहुत ज्यादा कम होती है. इसमें अधिक मात्रा में पॉलीफिनॉल होता है. ये एक सक्रिय एंटी-ऑक्सीडेंट है, जो ब्लड शुगर को नियंत्रित करता है. सबुह व शाम दूध की चाय पीने की बजाय ग्रीन टी पीने से फायदा होगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here