गुजरात सरकार 49.61 रुपये में लिए गए N95 मास्क को 65 रुपये में बेच रही: कांग्रेस

0
0
The Trump administration is telling 3M to prioritize the U.S. market for its N95 respirator masks during the global COVID-19 pandemic. The company has been accused of not doing enough to support the U.S. health care system and of fostering price gouging.

गुजरात में जहां कोरोना की वजह से अब तक 800 लोगों की मौत हो चुकी है. वहीं संक्रमण के फैलाव के बीच राजनीति भी गरमाने लगी है.

 संकट के वक्त भी बीजेपी और कांग्रेस के बीच राजनीति जारी है. दरअसल, गुजरात में विपक्षी पार्टी कांग्रेस का आरोप है कि विजय रुपाणी सरकार कोरोना महामारी के बीच गुजरात की जनता के पैसे से मुनाफाखोरी कर रही है.

बता दें कि गुजरात की रुपाणी सरकार ने कहा था कि गुजरात के अमूल दूध के 2000 पार्लर पर एन95 मास्क 65 रुपये में जबकि तीन लेयर मास्क 5 रुपये में मुहैया कराए जाएंगे. इस पर अब कांग्रेस ने रुपाणी सरकार को आड़े हाथों लिया है.

कांग्रेस का कहना है कि गुजरात मेडिकल कॉर्पोरेशन लिमिटेड कंपनी के राज्य के अलग-अलग डिपार्टमेंट में एन95 मास्क की खरीदारी कीमत 49.61 रुपये है. वहीं इस सरकारी कंपनी ने दूसरे सरकारी डिपार्टमेंट को भी एन95 मास्क इसी दाम पर खरीदने का आदेश दिया है.

कांग्रेस का आरोप है कि सरकार मुनाफाखोरी कर 49.61 रुपये में लिए गए N95 मास्क अब 65 रुपये में बेच रही है. कांग्रेस नेता अमित चावड़ा ने ट्वीट करते हुए लिखा, सरकार में महामारी के समय में लोगों को मदद की जगह, भाजपा के लोग मुनाफा कमाने में लगे हैं….

वहीं, बीजेपी के प्रवक्ता प्रशांत वाला का कहना है कि आमतौर पर N95 मास्क मार्केट में 100, 150, 200 रुपये में मिल रहा है.

लोगों की सुरक्षा रुपाणी सरकार की प्राथमिकता है. हर किसी को N95 मास्क की सुरक्षा मिल पाए इसलिए इसे अमूल पार्लर पर मुहैया करवाया जा रहा है. मास्क में जीएसटी और ट्रांसपोर्टेशन खर्च लगा है. इसके बाद इसकी कीमत 65 रुपये हुई.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here