Health: जानिए वो कारण जो बिना कार्डिएक अरेस्ट के भी सीने में दर्द का कारण बन सकते हैं।

0
2

सीने में दर्द होने पर लोग घबरा जाते हैं, जो दिल के दौरे का संकेत है। बूढ़े लोग या जो लोग पहले से ही हृदय रोग से पीड़ित हैं, वे इतने बेचैन हो जाते हैं कि असुविधा के कारण बीमार पड़ जाते हैं। लेकिन सीने में दर्द के कारण समान नहीं हैं। इस दर्द के कई कारण हो सकते हैं। लेकिन हमें इस बारे में लापरवाह नहीं होना चाहिए। यह बहुत महत्वपूर्ण है। अक्सर एसिडिटी या फिर सर्दी के कारण सीने में दर्द होता है। समय रहते इसका इलाज किया जाना चाहिए। आइए जानें सीने में दर्द के पीछे के कारण।Know What Is Cardiac Arrest And Heart Attack – कार्डिएक अरेस्ट से हुआ सुषमा स्वराज का निधन, जानिए क्या आैर कैसे हाेता ये | Patrika News

* फेफड़ों की बीमारी-
अक्सर फेफड़ों के अंदर सूजन होती है, जिससे अचानक दर्द होता है। अक्सर निमोनिया और अस्थमा के कारण भी फेफड़ों में दर्द हो सकता है। अगर ऐसा है तो दर्द छाती के पास है। जुकाम होने पर अधिक दर्द हो सकता है। ऐसा होने पर तुरंत डॉक्टर की सलाह लें।
* आंतरिक सूजन –
छाती का अंदरूनी हिस्सा बहुत अधिक शामिल होता है, ऐसे में कुछ लोगों के सीने के अंदर का हिस्सा सूज जाता है। उनको समझ नहीं आता। छाती के अंदरूनी हिस्से की सूजन जब आप हवा में सांस लेते हैं, तो आपको छाती में दर्द होने लगता है। चिकित्सा पक्षाघात में, इसे फुफ्फुसा कहा जाता है। यह स्थिति उन लोगों में सबसे आम है जिन्हें पहले निमोनिया हुआ है।

* पसलियों को तोड़ना-
दर्द तब होता है जब किसी कारण से पसलियां या पसलियां टूट जाती हैं। जिन लोगों को कुछ पीठ दर्द होता है वे इस दर्द का अनुभव करते हैं। लोग यह सोचने से डरते हैं कि ऐसी स्थिति में दर्द क्यों हो रहा है। नसों में सूजन होने पर भी सीने में दर्द हो सकता है। ये दर्द अक्सर ठंड के मौसम के कारण होता है। लेकिन अचानक दर्द होने पर स्थिति भयावह हो जाती है।
* पेट की गैस –

एसिडिटी होने पर भी ज्यादातर लोगों को सीने में दर्द होने लगता है। जब एसिड सतह पर उगता है, तो तेज दर्द होता है, और छाती में दर्द होने लगता है। ऐसे मामलों में, सीने में दर्द के बारे में चिंता करने के बजाय तुरंत अम्लता का इलाज किया जाना चाहिए। पेट में दर्द होने पर यह दर्द भी अपने आप ठीक हो जाता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here