रोजाना गुनगुना पानी पीना स्वास्थ को होता है ये फायदा

0
2

मानव शरीर के वजन का दो तिहाई भाग पानी होता है. प्रतिदिन 2.5 लीटर पानी शरीर से निकलता है. शरीर में 10 प्रतिशत पानी की कमी होने पर प्यास लगती है. प्रातः काल उठने से लेकर रात में सोने तक पानी पीना स्वास्थ्य वर्धक रहने के लिए महत्वपूर्ण है.

कब, कितना व कैसे पानी पिएं, इसकी जानकारी महत्वपूर्ण है. आयुर्वेद के मुताबिक, प्रातः काल उठने के बाद खाली पेट पानी पीना सबसे ज्यादा महत्वपूर्ण है. रोजाना सभी को लगभग 8 से 10 ग्लास पानी पीना जरूरी है ताकि शरीर व स्कीन स्वास्थ्य वर्धक रहे. पानी कैसे पिएं, इसे लेकर भी एक नियम है जिसके मुताबिक खड़े होकर पानी न पिएं, इससे जॉइंट्स निर्बल होते हैं. केवल नॉर्मल पानी ही नहीं बल्कि गुनगुना पानी पीने के व भी ज्यादा फायदे हैं.

www.myupchar.com से जुड़े एम्स के डाक्टर अनुराग शाही के अनुसार, शरीर की सभी कोशिकाओं को अच्छा से कार्य करने के लिए पानी की आवश्यकता पड़ती है. पानी की कमी से डिहाइड्रेशन होता है व ज्यादा पानी पीने से ओवरहाइड्रेशन होने कि सम्भावना है. इसलिए दोनों ही स्थितियों में सजग रहना चाहिए.

जानिए कब पिएं पानी

यह भी सवाल आता है कि आखिर पानी कब पिएं. इस बात का ध्यान रखें कि जब भी प्यास लगे, तब पानी जरूर पिएं व उस समय टालें नहीं. प्यास ही है जो यह बताती है कि शरीर को अब पानी की आवश्यकता है. खास ख्याल यह रखें कि खाना खाने से आधा घंटे पहले व खाना खाने के एक घंटे बाद ही पानी पिएं. खाना खाने से आधा घंटा पहले दो गिलास पानी पीने से पेट जल्दी भरेगा. खाना कम खाने में आएगा व वजन नियंत्रित रहेगा. खाना खाने से बिल्कुल पहले पानी पीने से पाचन शक्ति निर्बल होती है. साथ ही खाने के तुरंत बाद पानी पीने से शरीर फूलता है, फैट की चर्बी चढ़ता है व कब्ज की समस्या हो जाती है.

वे लोग अधिक मात्रा में पानी पिएं जिन्हें हाई ब्लड प्रेशर की शिकायत हो, जिन्हें बुखार, कब्ज, पेट में जलन, पेशाब में जलन या यूरिन इन्फेक्शन जैसी दिक्कतें हो. उल्टी या दस्त आदि के समय पानी की कमी ना रहे, इसके लिए पानी थोड़ा-थोड़ा करके लगातार नमक शक्कर के साथ पीना चाहिए. अधिक पानी पीने से गुर्दे में पथरी आदि की समस्या की संभावना कम हो जाती है.

कब पानी न पिएं

गर्म चाय या कॉफी पीने, खीरा, खरबूजा, ककड़ी, भुट्टा, मक्का खाने के तुरंत बाद पानी न पिएं. धूप से आकर तुरंत पानी नहीं पिएं, पहले शरीर का तापमान कम हो जाए फिर पिएं. यह ध्यान रखें कि बहुत गर्म खाने के बाद ठंडा पानी व बहुत ठंडा खाने के बाद गर्म पानी न लें.ठंडे की बजाए गुनगुना पानी पीने के ढेरों फायदे हैं. प्रातः काल खाली पेट एक गिलास गुनगुना पानी पीने से सर्दी-खांसी, कब्ज, सिरदर्द, बदहजमी आदि में आराम मिलता है. गर्म पानी पीने से विषैले तत्व सरलता से बाहर निकल जाते हैं. खाने के बाद एक गिलास गर्म पानी पीने से गैस, कब्ज, पसली का दर्द, टॉन्सिल जैसी समस्या, हिचकी आदि अच्छा हो जाते हैं. जॉइंट्स में दर्द और सूजन व गठिया से पीड़ित लोगों को गर्म पानी जरूर पीना चाहिए. गर्म पानी पीने से लिवर को ताकत मिलती है. पेट के कीड़े, पेट में सूजन, पेचिश आदि में भी गर्म पानी लाभ करता है. गुनगुना पानी पीने से साइनस की समस्या में आराम मिलता है. गुनगुना पानी पीने से शरीर का तापमान बढ़ जाता है, इससे मेटाबॉलिज्म की प्रक्रिया तेज हो जाती है. इससे ज्यादा कैलोरी से जल्द छुटकारा मिलता है व इससे वजन घटता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here