अगर खाते है रोज एक आंवला, तो मिलेगा बड़ा लाभ

0
0

सर्दियों का समय आपकी प्रतिरक्षा प्रणाली के लिए विशेष रूप से विषम परिस्थितियों होता है व आंवला में उपस्थित विटामिन ठंड और वायरस से प्रभावी तरीका से लड़ने में मदद कर सकते हैं. www.myUpchar.com से जुड़े डाक्टर लक्ष्मीदत्ता शुक्ला के अनुसार, घरेलू नुस्खों में आंवले का बेहद प्रयोग होता है. यह पोषक तत्वों से भरपूर है.

प्रतिदिन एक आंवला खाने पर आपको कई तरह की बीमारियों से बचा सकता है. सर्दियों के समय आंवले का सेवन बहुत ज्यादा अच्‍छा माना जाता है. कच्चा आंवला, आंवले का अचार, आंवला मुरब्‍बा, आंवला पाउडर या आंवला कैंडी, किसी भी रूप में इसका सेवन किया जा सकता है. आंवला जूस पीकर भी इसके गुणों के फायदे ले सकते हैं. एंटिऑक्सिडेंट्स से भरपूर आंवला बॉडी को डिटॉक्स करने व शरीर की प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ाने में भी मदद करता है. इसे खाने का सबसे अच्छा समय प्रातः काल होता है.

इसलिए लाभकारी है आंवला
सबसे पहला व बड़ा कारण है कि आंवला विटामिन सी (एस्कॉर्बिक एसिड) से समृद्ध है. 100 ग्राम आंवले में संतरे से 10 से 30 गुना अधिक विटामिन सी होता है. आंवले में उपस्थित एंटीऑक्सिडेंट व विटमिन सी मेटाबॉलिज्‍म को बढ़ावा देने तथा सर्दी-खांसी सहित वायरल व बैक्टीरियल बीमारियों को रोकने में मदद करता है.

आंवले जैसे खट्टे फलों का नियमित सेवन दिल रोगों के जोखिम को कम करने का एक प्रभावी उपाय है.
गंभीर ऑक्सीडेटिव स्ट्रेस के कारण एथेरोस्क्लेरोसिस होने कि सम्भावना है. यह एक ऐसी बीमारी है जो धमनियों को प्रभावित करती है व प्लेक जमने लगता है. विटामिन सी में एंटीऑक्सीडेंट गुण होते हैं व इस प्रकार यह हमारे सिस्टम में इस क्षति से निपटने में बहुत प्रभावी है.
अगर मुंह के छाले होने का खतरा है, तो थोड़ा पानी गर्म करें, इसमें आंवले का रस मिलाएं व इसे प्रतिदिन पिएं. आप जल्द ही सकारात्मक परिणाम देखेंगे.

आंवले में उपस्थित क्रोमियम कंटेंट को शुगर के स्तर को नियंत्रित करने के लिए जाना जाता है. इसी के कारण मधुमेह से जूझ रहे लोगों के लिए आंवला लाभकारी फल है.

आंवला रेशेदार होता है लेकिन इसे नियंत्रित मात्रा में लेना पड़ता है, क्योंकि बहुत अधिक फाइबर से इरिटेबल बाउल्स की शिकायत होती है.
आंवला अपने रक्त शुद्ध करने वाले गुणों के लिए मशहूर है. यह आपकी स्कीन को साफ करने में मदद करता है, मुंहासे को रोकता है व आपको एक चमकदार रंग देता है.

यदि नियमित रूप से कच्चा आंवला खाते हैं या इसका रस पीते हैं, तो फल आपके ओरल हेल्थ को बनाए रखेगा, मसूड़ों को मजबूत करेगा व सांसों की बदबू को दूर रखेगा.

आंवला में विटामिन सी भी आपकी स्कीन को हाइड्रेटेड रखने, रेडनेस को कम करने व क्षतिग्रस्त स्कीन कोशिकाओं की मरम्मत करने के लिए एक शानदार एजेंट है.

नियमित रूप से स्कैल्प पर आंवला हेयर क्लींजर से मालिश करने से रूसी कम होगी व आपके बाल सुपर स्मूथ व चमकदार बनेंगे.
आंवले का सेवन भोजन में रूचि बढ़ाने का कार्य करता है.

जिन्हें रुक-रुक कर पेशाब आती है उन्हें भी आंवले का प्रयोग करने से कठिनाई दूर हो सकती है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here