मलेरिया बनता जा रहा है मौत का कारण

0
3

अक्सर देखा गया है कि मौसम के बदलाव के साथ ही खांसी-जुखाम की परेशानियाँ भी होने लगती हैं। अभी के समय में मलेरिया बीमारी भी अपने पैर पसार रही हैं जो खांसी-जुखाम में अपना ज्यादा असर दिखाती हैं। मलेरिया बीमारी मादा एनोफिलेज मच्छर से फैलती हैं। इस बीमारी में सांस फूलना, चक्कर आना, सर्दी, उबकाई,बुखार जैसे लक्षण दिखने लगते हैं। इसको बढ़ने से रोकने के लिए समय पर ही उपचार करने की जरूरत होती हैं। इसलिए आज हम आपके लिए कुछ घरेलू नुस्खे लेकर आए हैं जो मलेरिया से छुटकारा दिलाते हैं।

* तुलसी

भारतीय संस्कृति में तुलसी को विशेष स्थान दिया जाता है। इसे पूजनीय भी माना जाता है। कई बीमारियों के इलाज में तुलसी का उपयोग किया जाता है। यदि आपके आंगन में या आसपास पेड़-पौधे लगाने की जगह है तो तुलसी का पौधा जरूर लगाएं। मलेरिया के उपचार के लिए 10 ग्राम तुलसी के पत्ते और 7-8 मिर्च को पानी में पीसकर सुबह और शाम लेने से बुखार ठीक हो जाता है। इसमें आप शहद भी मिला सकते हैं। अनेक गुणों के साथ ही तुलसी मच्छरों को भगाने में भी मददगार साबित होती है।

* अदरक

अदरक का सेवन भोजन का स्वाद बढ़ाने के साथ-साथ मलेरिया के इलाज के लिए भी काफी लाभदायक होता है। थोड़ी सी अदरक लेकर उसमें 2-3 चम्मच किशमिश डालकर पानी के साथ उबालें। जब तक पानी आधा नहीं रह जाता इसे उबालते रहें। थोड़ा ठंडा होने पर इसे दिन में दो बार लें। इससे मलेरिया का बुखार कम करने में बहुत मदद मिलती है। इसके अलावा, मलेरिया होने पर हरसिंगार के पत्ते का सेवन अदरक के रस के साथ शक्कर मिलाकर किया जाये तो मलेरिया में लाभ होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here