टोक्यो में ओलंपिक पदक का रंग बदलना चाहती हैं मैरी कॉम

0
0

अनुभवी महिला मुक्केबाज एमसी मैरीकॉम इस बार अपने ओलंपिक पदक का रंग बदलना चाहती हैं। लंदन ओलंपिक की कांस्य पदक विजेता रहीं मैरीकॉम ने कहा है कि इस समय उनका एक मात्र लक्ष्य अगले साल होने वाले टोक्यो ओलंपिक में अलग रंग का ओलंपिक पदक हासिल करना है। मैरी ने कहा, “मैं जब भी रिंग में होती हूं मुझसे कई तरह की उम्मीदें की जाती हैं और वो मेरे दिमाग में रहती हैं। मैं कई बार यह सोच कर रात-रात भर नहीं सो पाती कि मैं अपने अंदर सुधार करने को लेकर क्या करूं, मैं अपनी कमजोरियों पर काम कैसे करूं और बाकी चीजें।” उन्होंने कहा, “मेरे लिए जो दुआएं की जाती हैं उनकी बदौलत मैं अभी तक सफल हूं। मैं अभी भी अपनी स्ट्रेंग्थ, स्टेमिना, स्पीड और एंड्यूरेंस पर काम कर रही हूं। इस समय मेरा मुख्य लक्ष्य अपने पदक का रंग बदलना है।” छह बार की विश्व विजेता मुक्केबाज मैरी कॉम आमतौर पर 48 किलोग्राम भारवर्ग में खेलती हैं लेकिन एमेच्योर अंतरार्ष्ट्रीय मुक्केबाजी संघ (एआईबीए) ने इस भारवर्ग को ओलिम्पक में से हटा दिया है। इसलिए उन्होंने 51 किलोग्राम भारवर्ग में शिफ्ट किया था और 2010 एशियाई खेलों में कांस्य जीता था। इसके बाद वो ओलंपिक पदक जीतने में सफल रही थीं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here