राजस्थान का ये है अनोखा गांव,जहां पर नहीं है एक भी मंदिर…जानिए

0
1

जयपुर, भारत देश एक ऐसा है जहां पर आपको हर राज्य में कई सारे फेसम मंदिर मिल जाएगे जो लोगों के प्रति आस्था के केंद्र होते है। माना जाए तो आस्था का देश ही भारत है। यहां पर हर एक गांव में एक से ज्यादा मंदिर स्थापित रहते है। इतना ही नहीं इन मंदिरों की खासियत भी अलग अलग होती है।

अगर बात करे राजस्थान राज्य की तो यहां पर ऐसे कई मंदिर स्थापित है जहां पर आज भी भगवान लोगों को दिखाई देते है और लोगों की हर मनोंकामना पुर्ण होती है। लेकिन आज हम आपको राजस्थान के एक ऐसे गांव के बारे में बताने जा रहे है जहां पर एक भी मंदिर स्थापित नहीं है।

क्योंकि यहां के लोग धर्म कर्मकांड पर जरा सा भी विश्वास नहीं रखते है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि हम बात कर रहे है राजस्थान के चूरू जिले में स्थित तारानगर तहसील के ‘लांबा की ढाणी’ गांव की। यहां के लोग आज सिर्फ मेहनत पर विश्वास रखते है।

यहां के लोगों का कहना है कि जैसी हम मेहनत करते है वैसे हमे फल मिलता है और इसमें भगवान का कोई काम नहीं है। अगर बात करे गांव की आबादी की तो करीब 105 घरों की आबादी वाले इस गांव में 91 घर जाटों के, 4 घर नायकों और 10 घर मेघवालों के हैं।

यहां के युवा शिक्षा के क्षेत्र में भी आगे है।  मेहनत के जरिये यहां के लोग पुलिस, रेलवे और चिकित्सा के क्षेत्र में गांव का नाम रोशन कर रहे हैं। अगर यहां पर किसी की मृत्यु भी होती है तो उसकी अस्थियों को गांव के लोग दोबारा जलाकर राख कर देते है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here