कब है विजया एकादशी, जानिए व्रत का महत्व और पूजन​ विधि

0
1

आपको बता दें कि हिंदू धर्म में एकादशी ति​थि को बहुत ही खास माना जाता हैं यह पवित्र होती हैं विजया एकादशी का व्रत 19 फरवरी को रखा जाएगा। पंचांग के मुताबिक फाल्गुन कृष्ण पक्ष की एकादशी तिथि को विजया एकादशी का व्रत रखा जाता हैं श्री हरि विष्णु की साधना आराधना के लिए समर्पित एकादशी का सनातन परंपरा में विशेष महत्व होता हैं

फाल्गुन मास में कृष्ण पक्ष की एकादशी को विजया एकादशी कहा जाता हैं इस पावन तिथि पर किया जाने वाला यह व्रत जीवन में सफलता पाने और इच्छाओं को पूरा करने के लिए विशेष रूप से किया जाता हैं इसे समस्त पापों का हरण करने वाली तिथि भी कहा जाता हैं। बता दें कि यह एकादशी अपने नाम के अनुरूप ही जातकों को फल प्रदान करता हैं इस दिन व्रत धारण करने से मनुष्य को मनोवांछित फल की प्राप्ति होती हैं वह जीवन के हर क्षेत्र में सफल होता हैं।

जानिए विजया एकादशी का मुहूर्त—
विजया एकादशी पारणा मुहूर्त— 20 फरवरी को 06:55:41 से 09:11:28 बजे तक
अवधि— दो घंटे 15 मिनट

हिंदू धर्म शास्त्रों के मुताबिक एकादशी के दिन व्रत करने से स्वर्ण दान, भूमि दान, अन्न दान और गौ दान से अधिक पुण्य की प्राप्ति जातक को होती हैं इस दिन भगवान श्री नारायण की उपासना करनी चाहिए। विजया एकादशी व्रत की पूजा में सप्त धान रखने का विधान होता हैं

पूजन से पूव्र एक वेदी बनाकर उस पर सप्त धान रखें। वेदी पर जल कलश स्थापित कर, आम या अशोक के पत्तों से सजाएं। इस वेदी पर श्री विष्णु जी की मूर्ति स्थापित करें। पीले पुष्प, ऋतुफल, तुलसी आदि अर्पित कर धूप दीप से आरती करें। व्रत की सिद्धि के लिए घी का अखंड दीपक जलाएं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here